करोना जैसों की काट भारतीय संस्कृति

राम युग में दूध मिलेऔर कृष्ण युग में घीकोरोना युग में काढा मिलेडिस्टेंस बना कर पी जब दुनियाँ लेके बैठी हैबड़े-बड़े परमाणुपर ठोक गया उसे एकछोटा सा विषाणु कल रात सपने मेंआया कोरोनाउसे देख जो मैं डरा 😢और शुरू किया रोनातो, मुस्कुरा 😊 केवह बोला मुझसे डरो मतकितनी अच्छी हैतुम्हारी संस्कृति न चूमते, न गले लगातेदोनों हाथ जोड़करतुम राम राम करतेवही करो नामुझसे क्यों डरते ? कहाँ से सीखा तुमनेरूम स्प्रे, बॉडी स्प्रेपहले तो तुम धूप, दीपकपूर, अगरबत्ती जलातेवही करो नामुझसे बिल्कुल डरो ना शुरू से तुम्हेंसिखाया गयाअच्छे से हाथ-पैरधोकर घर में घुसोमत भूलोअपनी संस्कृतिवही करो नामुझसे बिल्कुल डरो ना …

Read more

चीका टाउन वाले मित्र रमेश बिश्नोई जी

पिछले साल आज ही के दिन चीका टाउन में 27 साल के लंबे अरसे के बाद Ramesh Chander Bishnoi भाई साहब जी से मुलाक़ात हुई थी। स्कूल में दसवीं पढ़ने के बाद सब इधर उधर हो गए और फ़िर भगवान फेसबुक जी की असीम कृपा से सब नेटवर्क में जुड़ते चले गए। पिछले साल जब चीका टाउन में एक कठिन परपफेशनल अस्साइनेमेंट लेकर गया था जो बस मित्र नेटवर्क की बदौलत ही सीधे रास्ते पर चढ़ पाई।रमेश भाई साहब एक मजबूत चट्टान के जैसे व्यक्तित्व वाले हैं और निजी और प्रोफेशनल फ्रंट पर बड़ी शिद्दत से अपनी जिम्मेदारियों का वहन …

Read more

किसान कम्पनियों के मसले और समाधान

आज दिनांक 28 अगस्त 2019 को नीलोखेड़ी करनाल में स्थित एक्सटेंशन एजुकेशन इंस्टीटूट जिसे भारत सरकार का कृषि मंत्रालय हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के मार्फ़त संचालित करता है में जम्मूकश्मीर, उत्तराखंड, और हरियाणा से आये हुए मिडल लेवल एक्सटेंशन फंकक्शनरीज के साथ चर्चा करने का अवसर मिला। विषय था एक्सटेंशन स्ट्रेटेजीस फ़ॉर लिंकिंग फार्मर्स विद एग्रो प्रोसेसिंग इंडस्ट्रीज़।प्रोग्रोवेर्स प्रोड्यूसर कम्पनी लिमिटेड तरावड़ी करनाल के निदेशक भाई Vikas Chaudhary जी से निवेदन किया कि वे भी लेक्चर में बतौर फैकल्टी आएं और चर्चा में भाग लें। चर्चा का आगाज़ इस बात किया गया कि हमें फार्मर्स को एग्रो प्रोसेसिंग इंडस्ट्री से जोड़ने …

Read more

जहर खुराक और दवाई का कन्फ्यूजन

हरियाणा के जिला कैथल के कैलरम गांव में 25 अगस्त 2019 को दादा खेड़े पर एक बैठक चल रही थी और बैठक में एक सीनियर किसान महोदय जी के रंगे हाथ अलग से नज़र आ गए जो खेत में जहर छिड़क कर आने के बाद मीटिंग में बैठे थे। मैंने विनम्रता से उन्हें आगे बुलाया और पूछा कि इतनी लापरवाही किस लिए। मैंने अमित भाई से निवेदन किया कि फोटो खींच लें तो तुरंत किसान महोदय जी ने मेरे से उन्होंने फोटो किसी को न दिखाने को कहा। (फोटो को इसी लिए क्रॉप कर दिया गया है) बात चली के …

Read more

जिला यमुनानगर हरियाणा के दस गाँवों में जन्म ले रही है वैचारिक और औद्योगिक क्रान्ति

रीड इंडिया संस्था गुरुग्राम के सहयोग से 150 महिलाओं को जड़ी बूटी और खाद्य प्रसंस्करण पर बेसिक ट्रेनिंग और एक आर्थिक संगठन के गठन के उद्द्देश्य से यमुनानगर जिले में एक मूक वैचारिक क्रांति उभर रही है।गांव कस्बे की किसी भी दुकान में गांव का बना हुआ कोई भी सामान नही मिलता। सारा सामान बड़े शहरों में बनी फैक्टरियों से घूमता घमाता कस्बों गांवों के नुक्कड़ की दुकानों में भरा रहता है और सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक हम खर्चा ही खर्चा करते रहते है। इसी विचार बीज को लेकर वैचारिक क्रांति की फॉउंडेशन रखी गयी है।महात्मा …

Read more

भारत में जातिवाद अंग्रेजों का बिछाया हुआ एक षड्यंत्र और उसकी काट

भारत के इतिहास मे कहीं भी देखा जाए जीवन को सही ढंग से उत्पादक वर्ग ने ही जिया है जिसका सबूत है वर्तमान में उनकी जनसंख्या। भारत में आज भी ब्राह्मण थोड़े से ही हैं और समाज ने इन्हें कमाने का अधिकार इनसे छीन लिया क्योंकि ऋषि जानते थे कि ज्ञान और धन दोनों मिलकर बन्दे को बंदा नही रहने देते राक्षस में बदल देते हैं उदहारण बिल गेट्स। दूसरे उन्होंने अपने अनुभव से यह जान लिया था कि ज्ञान का घमंड मनुष्य को पागल ना कर दे इसीलिए ज्ञानी पुरुषों के लिए भिक्षा अनिवार्य कर दी गयी और भिक्षा …

Read more

खुदगब्बर तनुज खुराना एक परिचय

साल भर पहले की बात है मैं शाहाबाद टाउन में मित्र रजत सतीजा के शो रूम पर एक युवा कारोबारी से मिला था जिसका नाम था तनुज खुराना था और तारीख थी 18 अगस्त 2020 अभी दो दिन पहले मैं फिर शाहबाद गया था और मैंने अपने स्थानीय संपर्क रजत भाई से अपडेट लिया था तो उन्होंने बताया था कि पिछले एक साल में खुदगब्बर ने बहुत तरक्की कर ली है। शाहबाद जैसे छोटे टाउन से कारोबारी संभावनाओं की आप भला क्या उम्मीद कर सकते हैं? आज मुझे अचनाक से इस छोटे टाउन का देश के हरेक छोटे कस्बे गांव …

Read more

दाल और मेहमान

एक बार की बात है एक आदमी अपणी घरआली तै बोल्या: आज मेरे दफ्तर के यार खाणा खाण आवेंगे कीमे आछ्या बणा लिए!घरआली बोली: जी घर नै तो कीमे ना बच रहया बस दाल ए सै!आदमी बोल्या बस तू दाल ए बणा लिए और वे आवेंगे जद भीतर तै बर्तन नीचै पटके जाइए, मैं कहूँगा के होया तूकहिये खीर पड़गी, फेर कहिये हलवा पड़ग्या, नु करदे करदे सारी चीज गिणा दिए! फेर मैं कहूँगा के बच्या सै तू कहिये दाल बची सै,मैं कहूँगा वा ए लिया!उसकी घरआली बोली ठीक सै.मेहमान आए!!भीतर तै बर्तन गिरण की आवाज आई वो बोल्या भागवान …

Read more

शेरो शायरी कलेक्शन

हरियाणा कृषि विश्विधालय में मैं साल 1997 से लेकर मार्च 2000 तक बतौर डिपार्टमेंट ऑफ़ फ़ूड साइंस एंड टेक्नोलॉजी का छात्र रहा और साल 1998 में हमारे से जूनियर बैच में एक साथी आया महावीर डांगी। जो डॉ डैंग के नाम से हमारे आपसी जूनियर सीनियर भाई चारे में आगे चलकर मशहूर हुआ। महावीर की खासियत यह थी कि उसे सैंकड़ों हज़ारों शेर याद थे और किसी भी स्थिति पर वो शेर सुना सकता था। मैं हमेशा यह सोचता था कि कभी समय लगेगा तो मैं जीवन में एक शेरो शायरी का कलेक्शन बनाऊंगा। लेकिन चवन्नी अठन्नी की दौड़ में …

Read more

ताई की गवाही आला मुकद्दमा

एक बार एक मुक्कदमे में ताई गवाह बना दी ! ताई जा के कटघरे में खड़ी हो गयी और बाई चांस दोनू वकील भी ताई के गाम के ही थे पहले वकील नै बात शुरू करण के मारी ताई तै पूछ्या “अक ताई तू मन्ने जाने है? ताई बोली “हाँ रै तू रामफूल का है ना तेरा बाबू तो भाई घणा सूधा आदमी था पर तू कत्ति निक्कमा लिकडया मन्ने सुण्या है तू नम्बर का झूठा है और झूठ बोल बोल कै तूं वकील बण कै लोग नै ठगे है आर निरे झूठे गवाह बना के तू केस जीते है …

Read more