हमारा भाषाई इतिहास और आजकल के मसले

इसी हफ्ते की शुरुआत में मेरा गुरुग्राम जाना हुआ और मेरे पुराने साथी Jitender Chawla जी के साथ उनके घर पर चाय पकौड़े वाला कार्यक्रम बन गया। देश समाज और इतिहास पर हुई रूटीन चर्चा में मेरे से जितेन्द्र भाई ने सवाल पूछा कि अपने देश में उर्दू भाषा कहाँ से आ गई? इसे चांस कहें या कुछ और थोड़े दिन पहले ही मुझे इन्टरनेट पर रूटीन खोदा पाड़ी करते हुए एक महान आत्मा John Borthwick Gilchrist (1759–1841) के बारे में मालूम चला था जिन्हें फादर ऑफ़ उर्दू के नाम से भी जाना जाता है। जैसे आप चौंक गए वैसे …

Read more

अमरवीर करतार सिंह साराभा की कहानी

अमर वीर करतार सिंह सराभा एक ऐसी चिंगारी का नाम है जिसकी कहानी और जीवन के अनुभवों को देश में ज्यादा बताया ही नहीं गया है। देश के आजादी के लिए पंजाब और बंगाल के लोगों ने जो फाईट मारी उसकी सच्ची कहानियों को भी इतिहासकारों ने स्कूल कालेजों की किताबों से दूर ही रखा है। मुझे पंजाब में रहते हुए बारह साल होने को आये हैं अब जा कर बातें मेरे मन में खुलने लगीं हैं। इधर उधर आने जाने से लोगों से मेल जोल से बातें मालूम चलने लगीं है। अभी थोड़े दिन पहले धनौला पिंड गया था …

Read more

भारत के कोने कोने में बिजनेस क्रिएटिविटी के स्थानीय चैम्पियन बजा रहे हैं अपनी कामयाबी का डंका

business creativity ka danka

यह साल 2005 था मैं राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान (National Innovation Foundation) के साथ मिलकर उत्तर भारत के ग्रामीण इलाकों में आविष्कारकों और परम्परागत ज्ञान धारकों की खोज करने का काम कर रहा था और इस काम में मुझे बहुत अनुभव हो गया था मेरी आँखें भीड़ में से कुछ छोटा सा भी अलग कुछ दिखाई दे तो उसे तुरंत पहचान जाया करती थी और उसके पीछे अक्सर कोई ना कोई आविष्कार मिल ही जाया करता था। ऐसे ही एक दिन अचानक मेरी आँख ने बिजनेस क्रिएटिविटी के चैम्पियन रामजी लाल को पकड़ा और फिर जीवन में बिजनेस क्रिएटिविटी नामक एक …

Read more

वोकल फॉर लोकल का हमारे जीवन में महत्त्व इसके आगे खड़ी चुनौतियां और संभावित समाधान 

kamal jeet and sant lal sharma handshake webp

भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र भाई मोदी जी ने साल 2023 में अपने कार्यक्रम मन की बात के जरिये देशवासियों को संबोधित करते हुए वोकल फॉर लोकल की बात कही थी जिसके मायने बहुत गहरे हैं। बेहद  सरल लगने वाली यह बात हम सभी के जीवन को प्रभावित करने वाली है। पहले तो हम एक बार यह चर्चा कर लेते हैं कि ये वोकल फॉर लोकल है क्या बला? जैसा कि हम सभी जानते हैं कि भारत एक बड़ी मार्किट है जहाँ हर कोई घुसना चाहता है आज से नहीं कभी से, हर कोई यहाँ माल बेचना चाहता है और अपना …

Read more

प्रशांत और उर्मिला ने जीवन में स्थायी सुख चैन शान्ति और ख़ुशी आनंद मौज से भरा गौपालन केन्द्रित मॉडल किया विकसित

prashant urmila family 1

प्रशांत दर्शी और उर्मिला धुरंधर आई.टी. प्रोफेशनल्स हैं और दोनों अमरीका में बड़ी मल्टी नेशनल आई टी कारपोरेशन में काम करते थे। प्रशांत और उर्मिला ने अपने जीवन में एक आर्थिक स्थायित्व पाने के बाद अपनी सांस्कृतिक जड़ों को मजबूत करने के उद्देश्य से भारत में आकर देसी गौ वंश के साथ काम करना शुरू किया। प्रशांत ने अपने साक्षात्कार में बताया कि मेरा नाम प्रशांत दर्शी है और मैं आंध्र प्रदेश के गुंटूर में जन्मा था। मैं और मेरी पत्नी उर्मिला अपनी दो बेटियों अनिका और अदित्री के साथ दिल्ली में रहते हैं और जीवन में स्थायी सुख चैन …

Read more

समस्या में से समाधान देखने एक कला जिसे सीखा जा  सकता है  

26 february 2024

एक छोटा बच्चा जैसे ही होश सम्भालता है वो अपने आसपास के माहौल से सूचनाएं ग्रहण करनी शुरू करता है और उनके मन में सूचनाओं का एक डेटाबेस बनना आरम्भ हो जाता है। जिसका उपयोग वो जीवन भर अपने सामने आने वाले नये नए चैलेन्ज को हल करने में करता रहता है। यदि उसने अपने आसपास लोगों को समस्याएं हल करते हुए सुना है तो वो हमेशा समस्या में से समाधान देखने की ही कोशिश करेगा और इसके विपरीत यदि उसने लोगों को शिकायतें करते ही सुना और देखा है तो फिर वो आपने सामने आई समस्या में से एक …

Read more

अमरीका की येल युनिवर्सिटी का निकला भारत से कनेक्शन

yale university of america and indian connection

अमरीका की प्रसिद्द येल यूनिवर्सिटी ने 16 फ़रवरी को अपने दास व्यापार के साथ रहे सम्बन्ध के बाबत फॉर्मल तरीके से माफ़ी मांगी है और अपने जारी वक्तव्य में कहा है Today we recognize our universities historical role in and associations with slavery and we apologize for the ways that the Yale’s leaders, over the course of our early history participated in slavery. डेविड डब्ल्यू ब्लाइट नाम के लेखक ने येल और स्लेवरी प्रोजेक्ट पर एक पुस्तक लिखी जिसका नाम है A history, a comprehensive account of Yale’s past. इसी पुस्तक में एलिहू येल (1649-1721) जिनके नाम से येल यूनिवर्सिटी …

Read more

खाद्यविज्ञान की समझ से ही सुखद मानव जीवन की रचना संभव है।

shishpal 3web

शीशपाल हरडू जी मेरे मित्र हैं जो हरियाणा के सिरसा जिले के ऐलनाबाद ब्लाक के गाँव कुमथल के रहने वाले हैं। कोआपरेटिव विषय में पी.एच.डी. कर चुके शीशपाल जी गवर्नमेंट कालेज मीठी सुरेरां ऐलनाबाद से वर्ष 2021 में प्रिंसिपल पद से रिटायर हुए हैं। रिटायरमेंट के बाद शीशपाल जी ने प्राकृतिक खेती विषय में प्रयोग करने का मन बनाया। गाँव कुमथल से दो किलोमीटर बाहर मुख्य सड़क पर  सवा चार एकड़ में “खाओ आर्गेनिक कृषि फार्म”  की स्थापना की और सुबह शाम खेत में जा कर काम करना शुरू किया। प्राकृतिक कृषि फ़ार्म शुरू करने के पीछे सोच खुद के …

Read more

पंजाब को जहर मुक्त बनाने में कालजयी भूमिका का निर्वहन कर रहा है खेती विरासत मिशन

kheti virasat mission

रंगला पंजाब शब्द एक बहुमुखी सांस्कृतिक विरासत का परिचायक है, जिसके मूल में कृषि और पशुपालन पर आधारित एक ऐसी संस्कृति है जो बड़े लम्बे समय से एक बहुत बड़े भूभाग में पनपी है। जिसकी बातें किस्से खानपान, व्यवहार , खेल कूद , नाच गाने सब में एक ख़ुशी और उल्लास की तरंग पूरी दुनिया में मशहूर है। प्रथम विश्व युद्द के समय से ही ब्रिटिश लोगों ने अनाज राशन और जवान पंजाब की धरती से लिए और फिर दूसरे विश्वयुद्द और देश का बंटवारा जब हुआ तो देश ने अनाज की मांग के लिए पंजाब की ओर ही देखा। …

Read more

गुरदासपुर में ईजाद हुआ किया धान की पराली से फाल्स सीलिंग की टाइल्स बनाने का फार्मूला

परमिंदर सिंह पंजाब के गुरदासपुर टाउन के बड़े ही फेमस व्यक्ति हैं। इंडस्ट्रियल एरिया में एलांयस ऑटो के नाम से इनका एक मल्टी ब्रांड कारों का वर्कशॉप हैं जिसमें सभी तरह की कारों का सभी तरह का काम होता है। बचपन से ही परमिन्दर सिंह को पर्यावरण से बेहद प्रेम है और कैसे पर्यावरण की रक्षा हो इसके बारे में इनके मन में मनन चिन्तंत चलता ही रहता है। सरदार दर्शन सिंघ जी जो बड़े गर्व से बताते हैं मैं दसवीं फेल हूँ और माता हरभजन कौर जी के छोटे बेटे परमिंदर सिंह बताते हैं कि मेरे पिताजी ने अपना …

Read more