नास की जड़ फ्री रैडिकल्स और उनका तोड़

फ्री रैडिकल्स और ऐंटीऑक्सीडैंट्स ऑक्सीजन एक ऐसी चीज है जिसके बिना जीवन की हम कल्पना भी नहीं कर सकते। विडम्बना है कि यही ऑक्सीजन कुछ विशेष परिस्थितियों में हमारे शरीर को बहुत अधिक क्षति भी पँहुचा सकता है, इतनी कि कुछ वैज्ञानिक इसे कर्करोग या वृद्धावस्था लाने के लिए बहुत हद तक जिम्मेदार ठहराते हैं। फ्री रैडिकल्स या रिऐक्टिव ऑक्सीजन स्पीशीज (आरओएस) की जानकारी डाक्टरी हलके के बाहर शायद कम को हो किन्तु उन के काट “ऐंटीऑक्सीडैंट्स” के नाम सबों ने सुन रखे होंगे. शायद यह भी सुना हो कि ये ऐंटीऑक्सीडेंट्स हमारे शरीर से फ्री रैडिकल्स को हटाते हैं, …

Read more

चीका टाउन वाले मित्र रमेश बिश्नोई जी

पिछले साल आज ही के दिन चीका टाउन में 27 साल के लंबे अरसे के बाद Ramesh Chander Bishnoi भाई साहब जी से मुलाक़ात हुई थी। स्कूल में दसवीं पढ़ने के बाद सब इधर उधर हो गए और फ़िर भगवान फेसबुक जी की असीम कृपा से सब नेटवर्क में जुड़ते चले गए। पिछले साल जब चीका टाउन में एक कठिन परपफेशनल अस्साइनेमेंट लेकर गया था जो बस मित्र नेटवर्क की बदौलत ही सीधे रास्ते पर चढ़ पाई।रमेश भाई साहब एक मजबूत चट्टान के जैसे व्यक्तित्व वाले हैं और निजी और प्रोफेशनल फ्रंट पर बड़ी शिद्दत से अपनी जिम्मेदारियों का वहन …

Read more

जिला यमुनानगर हरियाणा के दस गाँवों में जन्म ले रही है वैचारिक और औद्योगिक क्रान्ति

रीड इंडिया संस्था गुरुग्राम के सहयोग से 150 महिलाओं को जड़ी बूटी और खाद्य प्रसंस्करण पर बेसिक ट्रेनिंग और एक आर्थिक संगठन के गठन के उद्द्देश्य से यमुनानगर जिले में एक मूक वैचारिक क्रांति उभर रही है।गांव कस्बे की किसी भी दुकान में गांव का बना हुआ कोई भी सामान नही मिलता। सारा सामान बड़े शहरों में बनी फैक्टरियों से घूमता घमाता कस्बों गांवों के नुक्कड़ की दुकानों में भरा रहता है और सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक हम खर्चा ही खर्चा करते रहते है। इसी विचार बीज को लेकर वैचारिक क्रांति की फॉउंडेशन रखी गयी है।महात्मा …

Read more

खुदगब्बर तनुज खुराना एक परिचय

साल भर पहले की बात है मैं शाहाबाद टाउन में मित्र रजत सतीजा के शो रूम पर एक युवा कारोबारी से मिला था जिसका नाम था तनुज खुराना था और तारीख थी 18 अगस्त 2020 अभी दो दिन पहले मैं फिर शाहबाद गया था और मैंने अपने स्थानीय संपर्क रजत भाई से अपडेट लिया था तो उन्होंने बताया था कि पिछले एक साल में खुदगब्बर ने बहुत तरक्की कर ली है। शाहबाद जैसे छोटे टाउन से कारोबारी संभावनाओं की आप भला क्या उम्मीद कर सकते हैं? आज मुझे अचनाक से इस छोटे टाउन का देश के हरेक छोटे कस्बे गांव …

Read more

दाल और मेहमान

एक बार की बात है एक आदमी अपणी घरआली तै बोल्या: आज मेरे दफ्तर के यार खाणा खाण आवेंगे कीमे आछ्या बणा लिए!घरआली बोली: जी घर नै तो कीमे ना बच रहया बस दाल ए सै!आदमी बोल्या बस तू दाल ए बणा लिए और वे आवेंगे जद भीतर तै बर्तन नीचै पटके जाइए, मैं कहूँगा के होया तूकहिये खीर पड़गी, फेर कहिये हलवा पड़ग्या, नु करदे करदे सारी चीज गिणा दिए! फेर मैं कहूँगा के बच्या सै तू कहिये दाल बची सै,मैं कहूँगा वा ए लिया!उसकी घरआली बोली ठीक सै.मेहमान आए!!भीतर तै बर्तन गिरण की आवाज आई वो बोल्या भागवान …

Read more

शेरो शायरी कलेक्शन

हरियाणा कृषि विश्विधालय में मैं साल 1997 से लेकर मार्च 2000 तक बतौर डिपार्टमेंट ऑफ़ फ़ूड साइंस एंड टेक्नोलॉजी का छात्र रहा और साल 1998 में हमारे से जूनियर बैच में एक साथी आया महावीर डांगी। जो डॉ डैंग के नाम से हमारे आपसी जूनियर सीनियर भाई चारे में आगे चलकर मशहूर हुआ। महावीर की खासियत यह थी कि उसे सैंकड़ों हज़ारों शेर याद थे और किसी भी स्थिति पर वो शेर सुना सकता था। मैं हमेशा यह सोचता था कि कभी समय लगेगा तो मैं जीवन में एक शेरो शायरी का कलेक्शन बनाऊंगा। लेकिन चवन्नी अठन्नी की दौड़ में …

Read more

ताई की गवाही आला मुकद्दमा

एक बार एक मुक्कदमे में ताई गवाह बना दी ! ताई जा के कटघरे में खड़ी हो गयी और बाई चांस दोनू वकील भी ताई के गाम के ही थे पहले वकील नै बात शुरू करण के मारी ताई तै पूछ्या “अक ताई तू मन्ने जाने है? ताई बोली “हाँ रै तू रामफूल का है ना तेरा बाबू तो भाई घणा सूधा आदमी था पर तू कत्ति निक्कमा लिकडया मन्ने सुण्या है तू नम्बर का झूठा है और झूठ बोल बोल कै तूं वकील बण कै लोग नै ठगे है आर निरे झूठे गवाह बना के तू केस जीते है …

Read more

चमत्कारी प्रतिभा के धनी लाला जगदीश जैन जी नई अनाज मंडी रोहतक वाले

ये लाला जगदीश जैन जी हैं। रोहतक में नई अनाज मंडी में इनका बारदाने का खानदानी काम है। साल 1998 में जब हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में एम. एस. सी. का छात्र था तो उन दिनों आजादी बचाओ आंदोलन के कार्यक्रम के में रोहतक में लाला जगदीश जैन जी से परिचय हो गया था । ये और इनका छोटा बेटा पांडु रात रात भर सडकों मोहल्लों में पोस्टर लगाते थे। साल 2000 मैं पढाई पूरी करके इंडियन आर्गेनिक फ़ूड नई दिल्ली में नौकरी करने लगा था। लेकिन रविवार को कभी कभी लाला जी के ठिकाने पर चला जाता था। इनके ठिकाने …

Read more

समाज-तकनीक-वर्तमान-भूतकाल और भविष्य

29 जुलाई 2019, ग्राम अन्जन्थली, करनाल, हरियाणा , भारत आज सुबह चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर 11 बजे युवा लेखक शिव्या जी से अप्पोइंटमेन्ट थी जो गोआ चंडीगढ़ फ्लाइट से आई थी। आने का मकसद किसान संचार द्वारा किसानों को दी जा रही मौसम आधारित सूचनाओं से उपजे प्रभाव का अध्यन करना और फिर एक लेख में लिपिबद्द करना। खैर सारे काम कूम खत्म करने के बाद मैडम शिव्या जी से उनकी शिक्षा दीक्षा के बारे में बात हुई तो उन्होंने बताया कि उन्होंने सिंगापुर से पढ़ाई की है। सिंगापुर का नाम सुनकर क्यूरोसिटी के कीड़े ऐड़ी ठा कर खड़े होने निश्चित …

Read more

समय बेहद कीमती है इसे नष्ट ना करें

जीवन में समय का अत्यंत महत्व है क्यूंकि समय तो निरंतर चलता रहता है और जीव को जीवन में समय सीमित मिलता है इसीलिए परमात्मा द्वारा प्रदत्त इस अनुपम गिफ्ट को हमें भरपूर जीने का प्रयास करना चाहिए क्यूंकि यही एक ऐसा प्राकृतिक संसाधन है जो पूरी तरह से तब तक हमारे हाथ में है जब तक जीवन की डोर अटूट है