खाद्यविज्ञान की समझ से ही सुखद मानव जीवन की रचना संभव है।

shishpal 3web

शीशपाल हरडू जी मेरे मित्र हैं जो हरियाणा के सिरसा जिले के ऐलनाबाद ब्लाक के गाँव कुमथल के रहने वाले हैं। कोआपरेटिव विषय में पी.एच.डी. कर चुके शीशपाल जी गवर्नमेंट कालेज मीठी सुरेरां ऐलनाबाद से वर्ष 2021 में प्रिंसिपल पद से रिटायर हुए हैं। रिटायरमेंट के बाद शीशपाल जी ने प्राकृतिक खेती विषय में प्रयोग करने का मन बनाया। गाँव कुमथल से दो किलोमीटर बाहर मुख्य सड़क पर  सवा चार एकड़ में “खाओ आर्गेनिक कृषि फार्म”  की स्थापना की और सुबह शाम खेत में जा कर काम करना शुरू किया। प्राकृतिक कृषि फ़ार्म शुरू करने के पीछे सोच खुद के …

Read more

पंजाब को जहर मुक्त बनाने में कालजयी भूमिका का निर्वहन कर रहा है खेती विरासत मिशन

kheti virasat mission

रंगला पंजाब शब्द एक बहुमुखी सांस्कृतिक विरासत का परिचायक है, जिसके मूल में कृषि और पशुपालन पर आधारित एक ऐसी संस्कृति है जो बड़े लम्बे समय से एक बहुत बड़े भूभाग में पनपी है। जिसकी बातें किस्से खानपान, व्यवहार , खेल कूद , नाच गाने सब में एक ख़ुशी और उल्लास की तरंग पूरी दुनिया में मशहूर है। प्रथम विश्व युद्द के समय से ही ब्रिटिश लोगों ने अनाज राशन और जवान पंजाब की धरती से लिए और फिर दूसरे विश्वयुद्द और देश का बंटवारा जब हुआ तो देश ने अनाज की मांग के लिए पंजाब की ओर ही देखा। …

Read more

गुरदासपुर में ईजाद हुआ किया धान की पराली से फाल्स सीलिंग की टाइल्स बनाने का फार्मूला

परमिंदर सिंह पंजाब के गुरदासपुर टाउन के बड़े ही फेमस व्यक्ति हैं। इंडस्ट्रियल एरिया में एलांयस ऑटो के नाम से इनका एक मल्टी ब्रांड कारों का वर्कशॉप हैं जिसमें सभी तरह की कारों का सभी तरह का काम होता है। बचपन से ही परमिन्दर सिंह को पर्यावरण से बेहद प्रेम है और कैसे पर्यावरण की रक्षा हो इसके बारे में इनके मन में मनन चिन्तंत चलता ही रहता है। सरदार दर्शन सिंघ जी जो बड़े गर्व से बताते हैं मैं दसवीं फेल हूँ और माता हरभजन कौर जी के छोटे बेटे परमिंदर सिंह बताते हैं कि मेरे पिताजी ने अपना …

Read more

राजीव भमराल की कलम से

rajeev bhamral 2p

वैसे तो हर जीव निर्जीव में परमात्मा का अंश होता है लेकिन जो तरंगे आपके अंदर स्पंदन करती हैं वैसे माहौल में यदि परमात्मा आपको ले जाये तो खुद को खुशकिस्मत समझना चाहिए। ज़नाब राजीव भमराल “तारा भा जी” से मेरी पहली मुलाकात सन 1999 में नगरोटा कैंट वाले रास्ते पर हुई थी जब मैं पैदल पैदल पहली बार जम्मू से कटरा की ओर चला था। एक दम अनजान शख्सियत से मुलाकात और फिर रात को मैं इनके पड़ाव के साथ नंदिनी एलिफैंट सेंचुरी में सड़क किनारे एक दुकान में रुक गया। तीन दिन के सफर में मैंने इनके अंदर …

Read more

थार नेचुरल फ़ार्म 58 आर.बी. जिला गंगानगर राजस्थान

कल दोपहर जब मैंने अचानक बिना किसी कार्यक्रम के थार नेचुरल फ़ार्म (Thar Natural Farm) के प्रणेता सरदार नवरूप सिंह जी को फोन किया और बताया कि मैं आपके इलाके में हूँ तो मुझे जिस गर्मजोशी की उम्मीद थी उससे उलट बस एक ठंडी सी आवाज सुनाई दी आ जाओ। खैर जब मैं वहां पहुंचा तो सरदार नवरूप सिंह जी मिले तो मुझे मालूम चला कि बुखार में तप रहे हैं। लेकिन हमें आया देख उठ खड़े हुए और अपने बड़े भाई साहब सरदार नवदीप सिंह जी से बोले कि बच्चों को अंदर ले जाओ और पहले कढावणी जिसमें दूध …

Read more

राम की शक्ति पूजा

राम की शक्ति पूजा रवि हुआ अस्त; ज्योति के पत्र पर लिखा अमररह गया राम-रावण का अपराजेय समरआज का तीक्ष्ण शर-विधृत-क्षिप्रकर, वेग-प्रखर,शतशेलसम्वरणशील, नील नभगर्ज्जित-स्वर,प्रतिपल – परिवर्तित – व्यूह – भेद कौशल समूहराक्षस – विरुद्ध प्रत्यूह,-क्रुद्ध – कपि विषम हूह,विच्छुरित वह्नि – राजीवनयन – हतलक्ष्य – बाण,लोहितलोचन – रावण मदमोचन – महीयान,राघव-लाघव – रावण – वारण – गत – युग्म – प्रहर,उद्धत – लंकापति मर्दित – कपि – दल-बल – विस्तर,अनिमेष – राम-विश्वजिद्दिव्य – शर – भंग – भाव,विद्धांग-बद्ध – कोदण्ड – मुष्टि – खर – रुधिर – स्राव,रावण – प्रहार – दुर्वार – विकल वानर – दल – बल,मुर्छित – …

Read more

पंचायत मौसम सेवा

panchayat mausam sewa

बड़े हर्ष के साथ आपको सूचित कर रहा हूँ कि पिछले सात महीनों से हम पंचायत स्तर पर मौसम (Panchayat Mausam Sewa) की जानकारियां भेजने लायक व्यवस्था बनाने में जुटे थे और इसके लिए भारत मौसम विज्ञान विभाग और पंचायती राज मंत्रालय के साथ मिलकर www.greenalerts.in पोर्टल को विकसित किया जा रहा था। कल भारत के उपराष्टृपति श्रीमान जगदीप धनखड़ जी ने अपने करकमलों से इसे नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में इसे राष्ट्र को समर्पित किया। इस फैसिलिटी को भारत सरकार की पब्लिक प्राईवेट पार्टनेरशिप नीति के तहत जनहित में विकसित किया गया है। पंचायत स्तर …

Read more

लोकज्ञान और स्थानीय आविष्कारों में छिपा है विश्वगुरु बनने का फार्मूला

प्रीतम सिन्हा

भारत एक विशाल देश हैं जहाँ एक बड़ी जनसँख्या निवास करती है जिसमें विभिन्न नस्लों धर्मों मान्यताओं परम्पराओं के जानकार लोग रहते हैं। थोडा समय यदि पीछे चले जाएँ तो आधुनिक बाजारवाद का ज्यादा जोर नहीं था और लगभग सभी लोग प्राकृतिक संसाधनों पर ही निर्भर किया करते थे बेशक वो भोजन का मसला हो या दवाई का। सभी के पास अपने अपने भौगोलिक परिवेश के मुताबिक़ अपनी स्थानीय समस्याओं के स्थानीय हल हुआ करते थे। मसलन यदि कोई छोटी मोटी शारीरिक समस्या हो और कोई किसी को बताये कि आज मेरा पेट खराब है या दांत में दर्द है …

Read more

चाय का विकल्प

kamal jeet

चाय एक ऐसा कलंक है जिससे सभी जान तो छुड़वाना चाहते हैं लेकिन जीवन भर कोशिशे चलती रहती हैं दफ्तरी काम में चाहो ना चाहों छाती फूंकनी ही पडती है खैर दो जनवरी को मेरी मुलकात श्री राजेन्द्र जैन जी से उनके कार्यालय में हुई और बैठते ही मैंने चाय और चीनी ना पीने का निवेदन कर दिया उन्होंने हँसते हुए कहा कोई बात नहीं कमल जीत जी आपको चाय नहीं पिलायेंगे और उन्होंने तुरंत अपने मातहत को आवाज दी कि सबके लिए आँवला पेय बनाकर लाओ और खंड मिट्ठा कुछ नहीं डालना है बस काली मिर्च दिखा लाना जरी …

Read more

नमक पुराण

पंचकुला से बरवाला रोड पर बुलंद खड़े मशहूर रामगढ़ के किले के बाहर एक नमक की रेहड़ी लगती है जिसे कैथल जिले के निवासी श्रीमान स्वतंत्र कुमार लगाते हैं और बड़े फक्र से बताते हैं के मैं पांचवीं फेल हूँ और मेरी पत्नी एम् ए पास है। खैर मैंने पूछा के ये व्यापार क्यूँ करते हो स्वतंत्र ने बताया मैंने बड़े व्यापार किये किसी में मेरा पैसा मार लिया गया कभी समान खराब हो गया। यह समस्या मैंने एक दिन अपने गाँव के बुजुर्ग से बताई तो उसने कहा भाई तुम्हारे पूरे परिवार का स्वभाव भुरभरा सा है समान के …

Read more