बूढी मां के तीन गहने

उन्नीसवीं शताब्दी का अंतिम समय था। ठाकुरदास नामक एक वयोवृद्ध कोलकता में रहता था। उसके परिवार में केवल एक बच्चा और पत्नी थी। इस सीमित परिवार का भरण-पोषण भी ठीक प्रकार से न हो पाता। नियति ने उन्हें मेदिनीपुर जिले के एक गाँव में ला पटका। वहाँ ठाकुरदास को दो रुपये महावार की नौकरी मिली। कालाँतर में उनका देहाँत हो गया। पत्नी के कंधों पर सारे परिवार का दायित्व आया। इसी तरह कई वर्ष बीत गए। एक दिन रात के समय बेटे ने अपनी माँ के पैर दबाते हुए पूछा, “माँ मेरी इच्छा है कि मैं पढ़-लिखकर बहुत बड़ा विद्वान …

Read more

हल्दीघाटी युद्ध में वीरगति को प्राप्त होने वाले प्रमुख मेवाड़ी योद्धा

हल्दीघाटी का युद्ध 18 जून 1576 को मेवाड़ के महाराणा प्रताप का समर्थन करने वाले घुड़सवारों और धनुर्धारियों और मुगल सम्राट अकबर की सेना के बीच लडा गया था हल्दीघाटी का युद्ध 1) ग्वालियर के राजा रामशाह तोमर 2) कुंवर शालिवाहन तोमर (रामशाह तोमर के पुत्र व महाराणा प्रताप के बहनोई) 3) कुंवर भान तोमर (रामशाह तोमर के पुत्र) 4) कुंवर प्रताप तोमर (रामशाह तोमर के पुत्र) 5) भंवर धर्मागत तोमर (शालिवाहन तोमर के पुत्र) 6) दुर्गा तोमर (रामशाह तोमर के साथी) 7) बाबू भदौरिया (रामशाह तोमर के साथी) 8) खाण्डेराव तोमर (रामशाह तोमर के साथी) 9) बुद्ध सेन (रामशाह …

Read more

बहुत याद आएंगे सरदार हरविन्द्र सिंघ आत्मा जी

कल देर शाम जब मैं नारायणगढ़ से लौट रहा था तो अचानक से एक संदेश प्राप्त हुआ जो सीनियर साथी श्री हरविंद्र सिंह आत्मा जी के बारे में था।संदेश का ले आउट देख कर ही झटका लग गया और बड़े ही बोझिल मन से पढ़ा गया।दो साल पहले ही नाबार्ड क्षेत्रीय कार्यालय चंडीगढ़ के बड़े अधिकारी श्री मलकीत सिंह जी के मार्फत हैफेड ऑयल मिल ऑडिट प्रोजेक्ट के दौरान मेरा परिचय हरविंद्र सिंह आत्मा जी से हुआ था। ऑडिट का टेक्निकल पक्ष मेरे जिम्मे था और फाइनांशियल पक्ष हरविंद्र सिंह जी के जिम्मे था। कंसल्टेंसी मामलों में यह मेरा पहला …

Read more

आर्थिक संगठन का स्वरुप कैसा होगा और यह काम कैसे करेगा

आर्थिक संगठन की आत्मा होती है : पूँजी यानि की कैपिटल जो आज हर किसी के पास नही होती है, पूँजी की मदद से ही सभी व्यापारिक गतिविधियाँ चलाई जा सकती है। पूँजी को हाथ में कैश के रूप में नही रखा जा सकता है। इसके लिए एक बैंक खाते की आवश्यकता होती है और वो भी करंट अकाउंट होना चाहिए क्यूंकि हमें ऐसा बैंक खाता चाहिए होता है जिसमें जितनी बार मर्जी लेन देन किया जा सके। बचत खाता यानी सेविंग अकाउंट में तो केवल सीमित लेन देन ही किया जा सकता है। बैंक खाता खोलने के लिए एक …

Read more

शुभ लाभ आर्थिक संगठन

भूमिका हमारा देश असल में एक दुनिया हैं यहाँ आदिकाल से ही पूरे विश्व से शोधार्थी आते रहे हैं और यहाँ से सीख सीख कर ज्ञान और अनुभव पूरी दुनिया में ले जाते रहे हैं। शोधार्थियों के शोध ग्रंथों को पढ़ कर और उनके अनुभवों को सुन कर यहाँ की धन संपदा और वैभव को लूटने के मकसद से यहाँ हमलावर भी आते रहे हैं जिन्होंने हमारी धन संपदा को लूटने के साथ साथ हमारे ज्ञान केन्द्रों जैसे नालंदा और तक्षशिला जैसे विश्वविधालयों को नष्ट करने का काम किया है जिससे हमारा बौद्दिक विकास रुक गया और हम अजीब से …

Read more

हमारे कौरव पाण्डव और हमारा महाभारत

जयवीर रावत शास्त्र कहते हैं कि अठारह दिनों के महाभारत युद्ध में उस समय की पुरुष जनसंख्या का 80% सफाया हो गया था। युद्ध के अंत में, संजय कुरुक्षेत्र के उस स्थान पर गए जहां संसार का सबसे महानतम युद्ध हुआ था। उसने इधर-उधर देखा और सोचने लगा कि क्या वास्तव में यहीं युद्ध हुआ था? यदि यहां युद्ध हुआ था तो जहां वो खड़ा है, वहां की जमीन रक्त से सराबोर होनी चाहिए। क्या वो आज उसी जगह पर खड़ा है जहां महान पांडव और कृष्ण खड़े थे? तभी एक वृद्ध व्यक्ति ने वहां आकर धीमे और शांत स्वर …

Read more

न्यूजीलैंड में निर्दोष लोगों को दण्डित करने वाला मोहम्मद शमशुद्दीन अहमद आदिल

मोहम्मद शमशुद्दीन अहमद आदिल ने बीते रविवार को न्यूज़ीलैंड में छह निर्दोष लोगों को चाकू से हमला करके दण्डित करके घायल कर दिया था। यह दंड निर्दोष लोगों को पिछले लगभग डेढ़ हज़ार सालों से लगातार दिया जा रहा है । इस हमले के बाद न्यूजीलैंड की ख़ुफ़िया पुलिस के कमांडों की गोली से उसकी मौत हो गई और उसकी मौत की घोषणा न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न के द्वारा की गयी। श्रीलंका का रहने वाला आदिल 2011 में स्टूडेंट वीज़ा पर पढ़ाई करने न्यूज़ीलैंड गया था लेकिन, उनकी पहचान चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के एक समर्थक युवा की बन …

Read more

छोटे काम का बड़ा नतीजा पेंटर और नाव वाला किस्सा

एक आदमी ने एक पेंटर को बुलाया और अपनी नाव दिखाकर कहा कि इसको पेंट कर दो । पेंटर ने उस नाव को लाल रंग से पेंट कर दिया जैसा कि नाव का मालिक चाहता था। फिर पेंटर ने अपने पैसे लिए और चला गया । अगले दिन, पेंटर के घर पर वह नाव का मालिक पहुँचा और उसने एक बहुत बड़ी धनराशि का चेक उस पेंटर को दिया। पेंटर भौंचक्का हो गया और पूछा ये इतने सारे पैसे किस बात के हैं ?मेरे पैसे तो आपने कल ही दे दिया थे । मालिक ने कहा भाई, ये पेंट का …

Read more

कपूरासव एक शानदार औषधि इसे कैसे बनाएं

पुराने ग्राम वैद्यों की अचूक घरेलू औषधि थी कपूरासव। पैटेंट कानून ओर आबकारी कानूनों की भेट चढ़ गई यह अति उत्तम देसी औषधि जो कि पेट दर्द, हैजा, उबाक,जी मिचलाना,गैस अफारा,बदहजमी आदि दर्जनों पेट रोगों की एक शानदार हानिरहित,सरल,सस्ती, उपयोगी कारगर दमदार औषधि है । आजकल इसके विकल्प में अमृतधरा प्रयोग होती है। अमृतधारा भी काफी उपयोगी है अगर असली मिल जाए तो। बनाने की विधि बढ़िया देशी शराब 1 लीटर और असली कपूर 70 से 75 ग्राम, अजवाइन, सौंठ, काली मिर्च, लौंग, इलायची व नागर मोथा घास की सुखाई हुए जड़ सभी 10 -10 ग्राम । सभी 6 औषधियों …

Read more

नास की जड़ फ्री रैडिकल्स और उनका तोड़

फ्री रैडिकल्स और ऐंटीऑक्सीडैंट्स ऑक्सीजन एक ऐसी चीज है जिसके बिना जीवन की हम कल्पना भी नहीं कर सकते। विडम्बना है कि यही ऑक्सीजन कुछ विशेष परिस्थितियों में हमारे शरीर को बहुत अधिक क्षति भी पँहुचा सकता है, इतनी कि कुछ वैज्ञानिक इसे कर्करोग या वृद्धावस्था लाने के लिए बहुत हद तक जिम्मेदार ठहराते हैं। फ्री रैडिकल्स या रिऐक्टिव ऑक्सीजन स्पीशीज (आरओएस) की जानकारी डाक्टरी हलके के बाहर शायद कम को हो किन्तु उन के काट “ऐंटीऑक्सीडैंट्स” के नाम सबों ने सुन रखे होंगे. शायद यह भी सुना हो कि ये ऐंटीऑक्सीडेंट्स हमारे शरीर से फ्री रैडिकल्स को हटाते हैं, …

Read more