किसान उत्पादक कम्पनी में किसान क्या क्या काम कर सकते हैं ?

कमल जीत निदेशक किसान संचार साढोरा किसान प्रोड्यूसर्स कम्पनी लिमिटेड के निदेशक मंडल को प्रशिक्षण देते हुए

आजकल किसान उत्पादक कम्पनियों यानि फार्मर प्रोड्यूसर कम्पनीज का गठन बड़े जोरशोर से किया जा रहा है लेकिन किसान भाई अक्सर कंफ्यूज रहते हैं कि इन किसान कम्पनियों के माध्यम से कौन कौन से कार्यकलाप किये जा सकते हैं.  

किसान उत्पादक कम्पनी में प्राइमरी प्रोड्यूस से जुड़े सभी कार्यकलाप किये जा सकते हैं इसके लिए हमें सबसे पहले यह समझना होगा कि प्राइमरी प्रोड्यूस क्या होता है | 

प्राइमरी प्रोड्यूस क्या होता है ? 

  • किसानों द्वारा उत्पादित किये जा सकने वाला कोई भी उत्पाद जिसे खेती बाड़ी , पशुपालन , फल सब्जी , फूल उत्पादन , मछली पालन , अंगूर उत्पादन, जंगलात के तहत पेड़ लगाना , जंगल में पैदा हो रहे उत्पादों को एकत्र करना , पेड़ काटी गयी जमीनों पर फिर से पेड़ लगाना और उनके उत्पाद एकत्र करना , बनाना, मधुमक्खी पालन करना , कोई भी ऐसी गतिविधि जिसमें कुदरती तरीके से प्राकृतिक उत्पादों को पैदा किया जा सकता है , या फिर कोई भी ऐसी गतिविधि का संचालन करना जिसमें उत्पादकों या उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित किया जा सकता है.
  • हैंडलूम यानि हथकरघा , हस्तशिल्प , या घरेलू स्तर पर कोई छोटी यूनिट लगा कर उत्पादन करके बनाई जाने वाली वस्तु प्राइमरी प्रोड्यूस कहलाती है.  
  • ऊपर  बताई गयी अनेक गतिविधियों के तहत उत्पादित उत्पादों से फार्म स्तर या घरेलू स्तर पर बनाये जा सकने वाले उत्पाद को भी प्राइमरी प्रोड्यूस कहते हैं.

किसान कम्पनी में किसानों क्या क्या कार्यकलाप गतिविधियाँ कर सकते हैं ?  

  • किसान कम्पनी के सदस्यों द्वारा फसलोत्पादन, कटाई , फसलों की खरीद , ग्रेडिंग , फसलों को एकत्र करना , फसलों को ढोना , फसलों का विक्रय करना , फसलों का विपणन करना
  • किसान कम्पनी के प्राइमरी सदस्यों के प्राइमरी फसलोत्पादन को एक्सपोर्ट करना तथा किसान कम्पनी के प्राइमरी सदस्यों के उपयोग अथवा उपभोग हेतु प्रोडक्ट अथवा सर्विसेज को इम्पोर्ट करना
  • इसके अलावा किसान कम्पनी खुद या अपने किसी एजेंट या इंस्टीटूशन के माध्यम से निम्नलिखित कार्य कर सकती है
  • किसान कम्पनी के प्राइमरी सदस्यों के द्वारा उत्पादित फसलों की प्रोसेसिंग जिसमे प्रिजर्व करना, सुखाना , डिस्टिल (आसवन करना), शराब बनाना, डिब्बा बंद करना आदि शामिल है |
  • किसान कम्पनी द्वारा अपने सदस्यों को कोई यंत्र या मशीनरी या कोई कंज्यूम की जा सकने वाली कोई वस्तु बनाना या सप्लाई करना
  • किसान कम्पनी के द्वारा अपने सदस्यों या दूसरे किसानों के लिए आपस में मिलजुल कर काम करने और एक दूसरे की मदद करके आगे बढ़ने जिसे म्यूच्यूअल अस्सिटेंस प्रिंसिपल भी कहते हैं के लिए प्रशिक्षण प्रदान करना और करवाना
  • किसान कम्पनी के द्वारा अपने प्राइमरी सदस्यों को खेती बाड़ी से जुडी तकनीकी सेवाएं प्रदान करना , कंसल्टेंसी सेवाएं प्रदान करना , प्रशिक्षण , अनुसंधान और विकास और अन्य सभी सम्बंधित गतिविधियां जिनसे किसान कम्पनी के सदस्यों का फायदा हो और खेती किसानी में वृद्धि हो
  • बिजली बनाना, बिजली को तारों के माध्यम से ले जाना, बिजली को बांटना (बेचना), खेती लायक जमीन की उपजाऊ क्षमता को ठीक करना, जल संसाधनों का रखरखाव करना , उनका प्रयोग करना , उनका संरक्षण करना , उनका प्रचार प्रसार करना ताकि किसान कम्पनी के सदस्यों द्वारा प्राइमरी प्रोड्यूस यानि फसलोत्पादन में बढ़ौतरी हो |
  • किसान कम्पनी के सदस्यों और फसलों (प्राइमरी प्रोड्यूस) का बीमा करना
  • किसान कम्पनी के द्वारा अपने सदस्यों के बीच में आपसी लेन देन और सदस्यों में एक दूसरे की मदद करने की भावना को प्रोत्साहित करना ताकि खेतीबाड़ी का प्रबंधन अच्छे तरीके से किया जा सके
  • किसान कम्पनी के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स द्वारा लिए गए फैंसलों के अंतरगर्त सदस्य किसानों की भलाई हेतु कार्य करना और सुविधाएं प्रदान करना
  • किसान कम्पनी के द्वारा अपने सदस्यों को खेतीबाड़ी पशुपालन आदि क्रिया कलापों के लिए धन उधार देना , फायनेंस की व्यवस्था करना ताकि सदस्य अपनी फसलों की प्रोसेसिंग , मार्केटिंग आदि अच्छे से कर सकें
  • किसान कम्पनी केवल अपने सदस्य किसानों जो एक्टिव हैं और कम्पनी की गतिविधियों में भाग लेते हैं फसलोत्पादन खरीद सकती है

Leave a Comment