महाराजा रणजीत सिंह का अंतिम संस्कार

महाराजा का देहावसान महाराजा रणजीत सिंह जी को अधरंग हुआ था और वे 27 जून 1839 को स्वर्ग सिधार गये। उनका अंतिम संस्कार 28 जून 1839 को लाहौर में हुआ था। उनकी चार रानियाँ और सात दासियाँ महाराजा के मृत शरीर के साथ चिता पर सती हुई थी। महाराजा रणजीत सिंह जी का राज भारत में खालसा राज के रूप में सर्वमान्य है। सिख गुरुओं ने हमेशा सती प्रथा का विरोध ही किया है सभी गुरुओं ने इसके बारे में खुल कर अपने विचार रखे हैं। यह ऐतिहासिक घटना किन हालातों में घटी उसके बारे में ज्यादा इनफार्मेशन उपलब्ध नही …

Read more

माता सीता के जीवन से हम क्या सीख सकते हैं

सुनीता बिंदल माता सीता सनातन इतिहास में एक आदर्श महिला हुई हैं जिन्होंने मर्यादा पुरुषोतम भगवन श्रीराम की जीवन संगिनी बनकर उनका हर कदम पर साथ दिया आज के समय में सीता के जीवन से हम क्या सीखा सकते हैं इस बाबत आज हम कुछ चर्चा करेंगे सीता जी का तो पूरा जीवन ही त्याग व प्रेम से भरा हुआ है , उनका पूरा ही जीवन हमारे लिए शिक्षाप्रद व प्रेणादायक है सीता के बहुत सारे गुण जो हमको भी सीखने चाहिए। प्रकृति प्रेम सीता प्रकृति से बहुत प्रेम करती थी, बाल्यकाल से ही वो मिट्टी में लिपटी चिपटी रहती …

Read more

धौले एंड काले कानून और किसानपुत्र की व्यथा का व्यावाहरिक पक्ष ग्रामीण भारत की तकलीफ

मेरे एक अजीज साथी हैं सांगवान साहब जिनसे मेरा परिचय फेसबुक के माध्यम से हुआ था और मुझे उनका स्वभाव और विचार ठीक लगे और मेरी उनसे कब दोस्ती हुई और पारिवारिक भाईचारे में बदल गयी पता ही नही चला। मेरे पास वो कई बार चंडीगढ़ आये और मुलाकातें होती रही और मुझे उनकी अपने भविष्य को बनाने सम्बंधित आकांक्षाओं और योजनाओं का पता चलता रहा। बीच बीच में कई बार मेरी उनसे चर्चा बिजनेस सेटअप को लेकर हो जाया करती थी और पिछले एक डेढ़ साल में मैं दो बार उनके घर भी गया और उनके साथियों से भी …

Read more

शुभ लाभ आर्थिक संगठन के प्रथम बैच के प्रतिभागियों हेतु कुछ महत्वपूर्ण बातें

शुभ लाभ आर्थिक संगठन के प्रथम बैच की सभी 300 महिला सदस्यों को सादर नमस्कार आज ZOOM प्लेटफोर्म पर दोपहर तीन बजे आयोजित की गयी ऑनलाइन मीटिंग में आपके कुछ सदस्यों के साथ बातचीत करने का अवसर मिला और बातचीत में मैंने महसूस किया की अभी संगठन के बारे में आपके मन में कुछ सवाल हैं और उनके जवाब मैं यहाँ लिख कर दे रहा हूँ सबसे पहली बात यह है कि यह निर्णय लिया गया है कि एक लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप फर्म को पंजीकृत कराए जाने का प्लान है जिसमें हरेक गाँव से एक DESIGNATED मेम्बर होगा जो अपने …

Read more

डॉ सुरेंद्र दलाल एक सच्चे कर्मठ वैज्ञानिक से मुलाकात और उनकी यादें

डॉ सुरेंद्र दलाल जी एक सच्चे और धुरंधर वैज्ञानिक जी से मुलकात की यादें तो बहुत हैं लेकिन मुझे अपने जीवन में स्वर्गीय डॉ Surender Dalal जी से मिलने का मौका सिर्फ पांच या छह बार ही मिला है लेकिन फिर भी यह मुलाकातें सुबह से शाम तक बैठने वाली थी, उनको काम करते देखना और उनके नजरिये से मुद्दों को समझना , मेरे लिए एक दम नया अनुभव था। कोई इंसान सरकारी नौकरी में काम करते हुए लोगों का प्यार पाते हुए वैज्ञानिक कार्य कर सकता है , यह मैंने डा सुरेंदर से मिलने के बाद ही अनुभव किया। …

Read more

ब्यूटी सोप बार कैसे बनाएं और उससे जुड़े सवाल और जवाब

शुभ लाभ आर्थिक संगठन के प्रथम बैच के अभ्यर्थियों सादर नमस्कार आपको जिस का इंतज़ार था वो घड़ी अब आ गयी है रवि मोहन जी ने बड़ी मेहनत करके सभी सूत्रों को जोड़ लिया है और अब आप भिन्न भिन्न तरह के ब्यूटी सोप बार अपनी रूचि और क्रिएटिविटी के आधार पर बना सकेंगी आप अपने घर पर तो प्रयुक्त क्र सकेंगी और अपनी जान पहचान और जानकारी में भी उसे गिफ्ट के तौर पर या व्यापार के तौर पर शुरू कर सकेंगी। अभी मैं सलाह यही दूंगा कि पहले अभ्यास करो शोध करो रिसर्च करो और फिर धीरे धीरे …

Read more

चावल का फोर्टीफिकेशन और हमारा भविष्य

दीपक राघव इस तरह के अनाज आगे जाकर कैंसर का कारण बनेंगे प्रकृति के साथ खिलवाड़ अब हमारे देश में एक नया षड्यंत्र कंपनियां करवा रही हैं, जिसमें गरीबों को मिलने वाले चावल को फोर्टिफाइड करने की घोषणा कर रहे हैं “राशन की दुकान पर मिलने वाला चावल हो, मिड-डे मील में बालकों को मिलने वाला चावल हो। वर्ष 2024 तक हर योजना के माध्यम से मिलने वाला चावल फोर्टिफाइड कर दिया जाएगा”। महिलाओं और बच्चों के कुपोषण की समस्या के निदान हेतु चावल को फोर्टिफाइड करना एक समाधान के रूप में प्रचारित किया जा रहा है। लेकिन क्या वाकई …

Read more

श्री हनुमान चालीसा अर्थ सहित

श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि।बरनऊँ रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।गुरु महाराज के चरण.कमलों की धूलि से अपने मन रुपी दर्पण को पवित्र करके श्री रघुवीर के निर्मल यश का वर्णन करता हूँ, जो चारों फल धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष को देने वाला हे। •••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरो पवन कुमार।बल बुद्धि विद्या देहु मोहिं, हरहु कलेश विकार।हे पवन कुमार! मैं आपको सुमिरन.करता हूँ। आप तो जानते ही हैं, कि मेरा शरीर और बुद्धि निर्बल है। मुझे शारीरिक बल, सदबुद्धि एवं ज्ञान दीजिए और मेरे दुःखों व दोषों का नाश कर दीजिए। ••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••• जय हनुमान …

Read more

सनातन संस्कृति का मजबूत अंग है हमारा बाल्मीकि समाज

कैसे है वाल्मीकि समाज सनातनधर्म का अभिन्न अंग अरुण लवानिया अंग्रेजों के समय से ही सनातन की इमारत से एक एक कर ईंटों को सरकाने का षड़यंत्र चला आ रहा है। इसके पीछे जिसका भी का हाथ है उसका चेहरा हमसे अब छिपा नही है , कागजी स्वतंत्रता यानी ट्रांसफर ऑफ़ पॉवर के पश्चात उपजी नयी प्रजातियां जैसे नकली बौद्ध और वामपंथी भी इस कार्य में जुटे हैं। जातिविहीन समाज की बात करने वाले ऐसे तत्व जातियों की ही दुहाई देकर हिंदू समाज को तोड़ने में लगे हैं। अंबेडकर जी तो बिना आरक्षण के विपरीत परिस्थितियों में अपने पुरुषार्थ के …

Read more

पूंजी के पहाड़ से निकलेगा किसानों और कारीगरों की समस्या का समाधान।

मसला आज दुनिया अब ऐसे दौर में पहुंच चुकी है जहां सब कुछ पूंजी के सहारे चल रहा है और बड़े बड़े आर्थिक किले हमारे चारों और उद्योगपतियों ने बनाये हैं जिनकी मदद से वो सुबह शाम दिन रात अपने प्रोडक्ट्स एवं सर्विसेज के माध्यम से पैसा खींच रहे हैं। ग्रामीण इकॉनमी में पैसा आता तो है लेकिन रुकता नही है क्योंकि सुबह आँख खुलते ही व्हाट्सएप्प का स्टेटस चेक करने के साथ ही खर्चा होना चालू हो जाता है और फिर वो सुबह की चाय हो या नहाने का साबुन शैम्पू आदि हों हरेक वस्तु शहर से आती है …

Read more