जिला यमुनानगर हरियाणा के दस गाँवों में जन्म ले रही है वैचारिक और औद्योगिक क्रान्ति

रीड इंडिया संस्था गुरुग्राम के सहयोग से 150 महिलाओं को जड़ी बूटी और खाद्य प्रसंस्करण पर बेसिक ट्रेनिंग और एक आर्थिक संगठन के गठन के उद्द्देश्य से यमुनानगर जिले में एक मूक वैचारिक क्रांति उभर रही है।गांव कस्बे की किसी भी दुकान में गांव का बना हुआ कोई भी सामान नही मिलता। सारा सामान बड़े शहरों में बनी फैक्टरियों से घूमता घमाता कस्बों गांवों के नुक्कड़ की दुकानों में भरा रहता है और सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक हम खर्चा ही खर्चा करते रहते है। इसी विचार बीज को लेकर वैचारिक क्रांति की फॉउंडेशन रखी गयी है।महात्मा …

Read more

भारत में जातिवाद अंग्रेजों का बिछाया हुआ एक षड्यंत्र और उसकी काट

भारत के इतिहास मे कहीं भी देखा जाए जीवन को सही ढंग से उत्पादक वर्ग ने ही जिया है जिसका सबूत है वर्तमान में उनकी जनसंख्या। भारत में आज भी ब्राह्मण थोड़े से ही हैं और समाज ने इन्हें कमाने का अधिकार इनसे छीन लिया क्योंकि ऋषि जानते थे कि ज्ञान और धन दोनों मिलकर बन्दे को बंदा नही रहने देते राक्षस में बदल देते हैं उदहारण बिल गेट्स। दूसरे उन्होंने अपने अनुभव से यह जान लिया था कि ज्ञान का घमंड मनुष्य को पागल ना कर दे इसीलिए ज्ञानी पुरुषों के लिए भिक्षा अनिवार्य कर दी गयी और भिक्षा …

Read more

खुदगब्बर तनुज खुराना एक परिचय

साल भर पहले की बात है मैं शाहाबाद टाउन में मित्र रजत सतीजा के शो रूम पर एक युवा कारोबारी से मिला था जिसका नाम था तनुज खुराना था और तारीख थी 18 अगस्त 2020 अभी दो दिन पहले मैं फिर शाहबाद गया था और मैंने अपने स्थानीय संपर्क रजत भाई से अपडेट लिया था तो उन्होंने बताया था कि पिछले एक साल में खुदगब्बर ने बहुत तरक्की कर ली है। शाहबाद जैसे छोटे टाउन से कारोबारी संभावनाओं की आप भला क्या उम्मीद कर सकते हैं? आज मुझे अचनाक से इस छोटे टाउन का देश के हरेक छोटे कस्बे गांव …

Read more

पहला मक्का फ़ूड फेस्टिवल 31 जुलाई 2021

आज 31 जुलाई 2021 को यमुनानगर के ग्राम दामला में अविष्कारक धर्मवीर काम्बोज ने पहला मक्का फूड फेस्टिवल का आयोजन किया। इस अवसर पर हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ बीआर कांबोज मुख्य अतिथि थे। भारतीय मक्का अनुसंधान संस्थान के निदेशक डॉ सुजॉय रक्षित और कर्नल कुलबीर सिंह राणा बतौर गेस्ट ऑफ आनर उपस्थित थे। इस अवसर पर मक्का से बने उत्पादों की एक प्रदर्शनी भी लगाई गई। जिसमें गांव दामला की महिलाओं बालक और बालिकाओं ने अपनी रचनात्मकता से मक्का के अनेकों व्यंजन तैयार किए हुए थे। जिन्हें उपस्थित मेहमानों को परोसा गया। इस अवसर पर ग्रामीणों को संबोधित …

Read more

स्थानीय ज्ञान की महत्ता और आधुनिक नॉलेज मैनेजमेंट सिस्टम

साल 2017 की बात है नौवीं शोधयात्रा के दौरान दोपहर के समय मैंने जम्मू के आउटस्कर्ट्स में एक मंदिर में शरण ली हुई थी और वहां पैदल यात्रा मध्यप्रदेश से भी आई हुई थी। बड़ा शोर शराबा था और मैं भयंकर थका हुआ। लगभग दो घंटे बाद सोकर उठा और महुँ पर पानी शानी मार कर नगरोटा की ओर बढ़ने का मूड बनाया तो देखा कि मध्य प्रदेश से आई यात्रा में दोपहर का लंगर पक रहा था मैंने गर्म तवे पर सिकती हुई रोटियो के बीच में पड़े ईंट के आधे टुकड़े ने मेरा ध्यान आकर्षित किया।लंगर टीम के …

Read more

फ़ूड टेक्नोलॉजी सेक्टर में मेरे अनुभव

विषय से जुड़ाव साल 1997 में हरियाणा कृषि विश्विधालय में फ़ूड साइंस एंड टेक्नोलॉजी विषय के दूसरे बैच में मेरा एडमिशन हुआ था और मैं बहुत उत्साहित था विशेषकर विश्वविधालय के विशाल प्रांगण को देख कर और नेहरु लाईब्रेरी को पा कर इतनी विशाल और समृद्ध लाईब्रेरी मैंने पहले कभी देखी नही थी। पहला साल बड़े चाव चाव में बीता और फ़ूड केमिस्ट्री , फ़ूड माईक्रोबायोलोजी आदि विषयों ने मन में रोमांच भी पैदा किया और दिमाग के नये दरवाजे भी खोले मैं चूँकि अपने कोर्स की किताबें कम पढता था और अन्य विषयों में मेरी बहुत रूचि रहती थी। …

Read more