ब्लूटूथ और कर्णपिशाचनी

साल 2014 की बात है हम CABI डायरेक्ट टू फार्म प्रोजेक्ट के आखिरी राउंड में थे जिसमें 3 महीनों में लगभग 4 लाख किसानों का प्रोफाइल तैयार किया जाना था और तब न दिन का पता होता था और न रात का, अक्सर दिल्ली मीटिंग्स में भी जाना पड़ता थाऔर रातों रात सफ़र करके सुबह …

Read more

मरना परना अते किसान कारीगर ते समाज

भूमिका बात साल 2004 की है तब दिल्ली में मैं सरदार मोहिंदर सिंह ग्रेवाल जो भारत सरकार के कमीशन फॉर एग्रीकल्चर कास्ट्स एंड प्राईसेज में बतौर फार्मर मेम्बर सेवाएँ दे रहे थे के साथ बतौर गेस्ट उनके सरकारी रेसिडेंस पर रहा करता था। मैं उनके लिखने पढने के काम में उन्हें थोड़ा बहुत सहयोग भी …

Read more

डोभ वाली क्रिएटिव दादी गंगा देवी

मेरे जीवन मे जब जब ज्ञान से अपनी जीने की राह निकालने का सवाल आता है तो सबसे ऊपर दादी गंगा देवी जी का नाम आता है। दादी गंगा देवी ने बचपन मे खेतों में काम करते करते स्कूल के आते जाते बच्चों के साथ खेल खेल कर गिनती पहाड़े सीख लिए,बिल्कुल अनपढ़ होने के …

Read more

एक सीधा सवाल देश के किसानों से

इस देश में आत्मविश्वाश और आत्म निर्भरता का रास्ता केवल और केवल और खेतों से जाता है। हम जैसे नौकरी पेशा, बिना जमीन और बिना गाय वाले लोग संडे को सपरिवार खेतों में घूमने चले जाएं तो सड़कों और मॉल्स में से भीड़ छंट जाएगी और खेतों में रौनकें बढ़ेंगी। वहां अपन को फुलस्टॉप लगा …

Read more

हिंदी दिवस और हमारी डोगा पुलिस।

बात जरा पुरानी है मेरे मित्र संदीप जी निवासी ग्राम डोभ जिला रोहतक के दादा जी उन्हें हर रोज़ बैठक में अख़बार देकर बैठा देते थे और अख़बार पढ़कर सुनाने को कहते। उसी बैठक में कई बुजुर्ग हुक्का पीते पीते अख़बार सुनते और यह प्रोग्राम हर रोज़ दोपहर में तीन बजे के आस पास चला …

Read more

डॉ अख्लाक्ष प्रताप सिंह एक बेहतरीन वैज्ञानिक दृष्टिकोण वाले इंसान

दो दशकों में बहुत कुछ बेशक़ बदल जाता है। बस नही बदलता तो वो है सीनियर्स और जूनियर्स का बेशुमार प्यार और रिगार्ड और सीखने जानने बताने कहने सुनने की बेशुमार चाहत। डॉ अख्लाक्ष प्रताप सिंह जी हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय में हमारे से इमिजेट सीनियर बैच में थे और मेरी पिछली मुलाक़ात इनसे साल 2000 …

Read more

खेती विरासत मिशन के मंथन से उपजा है देसी ब्रांड त्रिंजन

माता गुरचरण कौर जी कहती हैं कि मैं चरखा चला कर सूत कातने के साथ साथ अपना दुःख काट लेती हूँ।इस चरखे का महत्व हम न खुद समझ सके और न देश की मुख्य धारा में इसको शामिल कर सके।हमारे गांवों में बसे बढई देवता किस स्तर के सिद्धहस्त और तकनीकी लोग हैं। इसका पता …

Read more

फ़ूड फ़ॉर थॉटस वर्टिकल फार्मिंग

वर्टिकल फार्मिंग आज कोई नया सब्जेक्ट बेशक़ होगा लेकिन हरियाणा पंजाब के देहातों में ये आदिकाल से होती आई है। जो बात सबसे बेहतर है वो यह है कि तकनीक के किसी एक पक्ष को इतना हावी नही किया जाता है कि वो त्रास बन जाये। तकनीक को साधारण सरल और सुघड़ रखना किसानों को …

Read more

किसान कम्पनियों के मसले और समाधान

आज दिनांक 28 अगस्त 2019 को नीलोखेड़ी करनाल में स्थित एक्सटेंशन एजुकेशन इंस्टीटूट जिसे भारत सरकार का कृषि मंत्रालय हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के मार्फ़त संचालित करता है में जम्मूकश्मीर, उत्तराखंड, और हरियाणा से आये हुए मिडल लेवल एक्सटेंशन फंकक्शनरीज के साथ चर्चा करने का अवसर मिला। विषय था एक्सटेंशन स्ट्रेटेजीस फ़ॉर लिंकिंग फार्मर्स विद एग्रो …

Read more

जब टोटा मेरे बहुत काम आया

बात चार साल पुरानी है जब साल 2017 में हम एप्पल प्रोजेक्ट में हिमाचल में काम कर रहे थे और हिमाचल के बहुत अंदरूनी हिस्सों में पहली बार घूम कर सेब के किसानों से मिल रहे थे। अगस्त महीने की तारीख रात में जीरकपुर से चल कर नारकंडा पहुंचे और जा कर एक बड़े मुश्किल …

Read more

error: Content is protected !!